नवरात्र मंगलवार से आरंभ, देवी मंदिरों में बजेंगे घंट-घड़ियाल





अभिजीत मुहुर्त में मां के भक्त करेंगे कलश स्थापना

बासंतिक नवरात्र के पहले दिन शैलपुत्री का पूजन करेंगे देवी भक्त

नवरात्र पूजन की खरीदारी को लेकर बाजार में उमड़ी भीड़

जिले के प्रमुख 15 देवी मंदिरों पर उमड़ती है भीड़

बासंतिक नवरात्र व हिंदू नववर्ष चैत्र शुक्ल प्रतिपदा की होती है शुरुआत

बलिया। बासंतिक नवरात्र एवं हिंदू नव वर्ष चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से आरंभ हो रहा है। जिसकी तैयारी नगर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों के देवी मंदिरों और घरों में साफ सफाई एवं रंग रोगन का कार्य पूरे दिन चलता रहा। इस दौरान देवी मंदिरों को प्राकृतिक व अप्राकृतिक फूलों से सजाया गया। मां के भक्तों के दर्शन व पूजन के लिए जिले के प्रमुख 15 देवी मंदिरों के गेट चार बजे भोर से खोल दिए जाएंगे।

नवरात्र के लिए बाजारों में हुई खरीदारी

बता दें कि देवी पूजन की तैयारी को लेकर श्रद्धालु नारियल, चुनरी, फूल माला, प्रसाद खरीदने के लिए बाजारों में उमड़ पड़े। जिससे दुकानदारों के चेहरे खिलखिला गए। वहीं देवी मंदिरों के आस-पास भी नारियल, चुनरी, प्रसाद आदि की दुकानें सजकर तैयार ‌है। इसके अलावा सुर‌क्षा के भी प्रबंध किए गए है। मां के भक्त शुभ मुहुर्त में कलश की स्थापना कर दुर्गा सप्तशती का पाठ करेंगे।
नगर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में बासंतिक नवरात्र को लेकर श्रद्घालुओं में काफी उत्साह देखने को मिला। नवरात्र के पहले दिन मां के भक्त नगर के गुदरी बाजार व जापलिनगंज दुर्गा मंदिर तथा ब्रह्माइन स्थित ब्राह्मणी देवी, शंकरपुर स्थित शांकरी भवानी, फेफना थाना के कपूरी गांव स्थित कपिलेश्वरी भवानी मंदिर, नरहीं थाना के कोरंटाडीह स्थित मंगला भवानी, माता अन्नपूर्णा मंदिर व मां दुर्गा मंदिर, रसड़ा के काली मंदिर, नीबू कबीरपुर व उचेड़ा स्थित चंडी भवानी, सिकंदरपुर के जल्पा-कल्पा मंदिर, मनियर के बुढ़ऊ बाबा मंदिर व नवका बाबा मंदिर, रेवती के पचरूखा देवी गायघाट मंदिर पर मां के भक्तों ने नारियल, चुनरी, प्रसाद चढ़ाकर परिवार के मंगलमय की कामना करेंगे। वही अपने-अपने घरों में मां की अराधना में कलश स्थापना अभिजीत मुहुर्त में कर दुर्गा सप्तशती का पाठ करेंगे। सोमवार की सुबह से ही पूजन की तैयारी को लेकर श्रद्धालु नारियल, चुनरी, फूल माला, प्रसाद खरीदने के लिए बाजारों में उमड़ पड़े। जिससे दुकानदारों के चेहरे खिलखिला गए।

इनसेट…
सामग्री – मूल्य – (किग्रा/ पैकेट)

————————————–
पेठा – 80 से 100

रामदाना – 20 पैकेट

लाचीदाना – 80

बताशा – 100

बादाम पट्टी – 40 पीस

रेवड़ी – 120

मिश्री कटिंग – 80

अमावट – 20 से 40 पैकेट

चुनरी – 20 से 100

माला – 5 से 60

नारियल – 30 से 50

प्लास्टिक फूल माला -35 से 50
———





Please share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!